जो जीता वही सिकंदर | सिकंदर का इतिहास | सिकंदर का भारत अभियान

जो जीता वही सिकंदर | सिकंदर का इतिहास | सिकंदर का भारत अभियान

जो जीता वही सिकंदर | सिकंदर का इतिहास | सिकंदर का भारत अभियान

  • सिकंदर Sikandar मेसीडोनिया (मकदूनिया) के क्षत्रप फिलिप का पुत्र था।
  • अपने विश्व विजय की योजना के अन्तर्गत सिकन्दर ने भारत पर आक्रमण किया।
  • झेलम तथा चिनाव के मध्यवर्ती प्रदेश के शासक पोरस (पुरु) ने सिकन्दर का प्रतिरोध किया।
  • सिकंदर ( Sikandar ) एवं पोरस के बीच 326 ई. पू. में झेलम नदी के किनारे भीषण युद्ध हुआ, जिसमें पोरस की हार हुई।
  • इस युद्ध को ‘वितस्ता का युद्ध’ या ‘हाइडेस्पीज का युद्ध’ के नाम से जाना जाता है।
  • बाद में सिकन्दर की सेना ने व्यास नदी के आगे बढ़ने से इनकार कर दिया।
  • अन्ततः सिकन्दर को वापस लौटना पड़ा।
  • वापस लौटते समय 323 ई. पू. में बेबीलोन में सिकन्दर की मृत्यु हो गई।
जो जीता वही सिकंदर | सिकंदर का इतिहास | सिकंदर का भारत अभियान
जो जीता वही सिकंदर | सिकंदर का इतिहास | सिकंदर का भारत अभियान
सीताराजा की भूमि से होने वाली आय
औपायनिकविशेष अवसरों पर राजा को भेंट स्वरूप दियाजाने वाला कर
कोष्ठेयकराजकीय जलाशयों के नीचे की भूमि पर
ध्रुवाधिकरणभूमिकर का संग्रहकर्ता
निष्क्राम्यनिर्यात कर
परिहीनकराजकीय भूमि पर पशुओं द्वारा की गई हानि पर जुर्माना
पार्श्वअधिक लाभ होने पर व्यापारियों से लिया जाने वाला कर
पिण्डकरराजा द्वारा वर्ष में एक बार पूरे गांव से लिया जाने वाला कर
प्रणयसंकटकालीन कर
प्रवेश्यआयात कर (20%)
भागकृषकों से लिया जाने वाला भूमिकर (उत्पादन का 1/6)
रज्जुभूमि की माप के समय लिया जाने वाला कर
वनकरवन सामग्री पर कर
विवीतपशुओं की रक्षा के लिये कर
सन्निधाताकोषाध्यक्ष
समाहर्ताराजस्व एकत्र करना, आय-व्यय का विवरण रखना
सेतुफलफूल पर कर
सेनाभक्तकरसेना के प्रयाण से समय जनता से तेल और चावल के रूप में
Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *